गर्मी के दिनों में सभी तरबूज खाना सबसे अधिक पसंद करते हैं। यह स्वादिष्ट ही नहीं बल्कि बहुत पौष्टिक भी होता हैं। तरबूज में 92% पानी और 8% चीनी होता हैं। यह शरीर में पानी की कमी को पूरा करता है। तरबूज में एंटी ऑक्‍सीडेंट होता हैं। रिसर्च के अनुसार तरबूज हृदय रोग, पेट के कैंसर और मधुमेह से बचाता है।

watermelon

तरबूज खाने के लाभ :

  1. तरबूज में भरपूर मात्रा में पोटैशियम पाया जाता हैं, जो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित कर दिल की धड़कन को ठीक करता हैं।heart-health-main
  2. तरबूज लाइकोपीन का एक महत्वपूर्ण स्रोत है। रिसर्च के अनुसार लाइकोपीन हमारे शरीर में कैंसर को होने से रोकता है।
  3. इसमें बीटा कैरोटीन और विटामिन सी पाया जाता हैं, जो हृदय रोग, कैंसर, और अन्य पुरानी बीमारियों को रोकने में सक्षम हैं।
  4. तरबूज में विटामिन ए और सी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। विटामिन सी हमारे शरीर के प्रतिरक्षा तन्त्र को मजबूत बनाता है और विटामिन ए हमारे आँखों के स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी होता है।eye
  5. यह वजन कम करने में भी काफी सहायक होता हैं।
  6. तरबूज का जूस पीने से खाना पचने में आसानी होता हैं। यह हमारी पाचन शक्ति को बढ़ाता हैं।
  7. तरबूज का एक छोटा सा टुकड़ा चेहरे पर रगड़ने से चेहरे में चमक आती हैं।
  8. तरबूज आपके गुर्दे और मूत्राशय को शुद्ध करने में मदद करता हैं।
  9. तरबूज खाने के बाद एक घंटे तक पानी नहीं पीना चाहिए, क्योकि इससे आपके शरीर को नुकसान पहुँच सकता हैं।
  10. तरबूज के बीज को थोड़े से पानी में उबालें। इस पानी को रोजाना चाय की तरह पिएं। इससे ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है।diabetes
  11. इसमें अनसैचुरेटेड फैटी एसिड होता है, जो त्वचा में नमी को बनाए रखते हैं। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्‍सीडेंट तत्व झुर्रियों को दूर करता है।
  12. स्किन इंफेक्‍शन में भी यह सही है। यदि एक्ने की समस्या हो, तो तरबूज के बीज का तेल चेहरे पर लगाएं। यह चेहरे से गंदगी और सिबम को हटाकर पोर्स को खोल देता है तथा त्वचा को सुंदर बनाता है।
  13. प्रोटीन और जरूरी मात्रा में अमीनो एसिड होने के कारण इसका बीज बालों के लिए रामबाण है। इसके बीज को चबाकर खाने से बाल जड़ से मजबूत होते हैं।

 

तरबूज के बीज के गुण :

  1. तरबूज के बीज शीतवीर्य, शरीर में स्निग्धता बढ़ानेवाले, पौष्टिक, मूत्रल, गर्मी का शमन करने वाले, कृमिनाशक, दिमागी शक्ति बढ़ाने वाले, दुर्बलता मिटाने वाले, गुर्दों की कमजोरी दूर करने वाले, गर्मी की खाँसी एवं ज्वर को मिटाने वाले क्षय एवं मूत्ररोगों को दूर करने वाले हैं।
  2. तरबूज के बीज के सेवन की मात्रा हररोज 10 से 20 ग्राम है। तरबूज के ज्यादा बीज खाने से तिल्ली की हानि होती है।
  3. तरबूज के बीजों को छीलकर अंदर की गिरी खाने से शरीर में ताकत आती है।
  4. मस्तिष्क की कमजोर नसों को बल मिलता है, टखनों के पास की सूजन भी ठीक हो जाती है।swellling in joints
  5. तरबूज के बीजों की गिरी की ठंडाई बनाकर प्रात: नियमित पीने के स्मरण शक्ति बढ़ती है।
  6. बीजों की गिरी में मिश्री, सौंफ, बारीक पीसकर मिलाकर खाने से गर्भ में पल रहे शिशु का विकास अच्छा होता है।
  7. बीजों को चबा-चबाकर चूसने से दाँतों के पायरिया रोग में लाभ होता है।
  8. पुराने सिरदर्द को दूर करने के लिये तरबूज के बीजों की गिरी को पानी के साथ पीसकर लेप तैयार कर नियमित माथे पर लगायें।headache
  9. ग्रीष्म ऋतु में दोपहर के भोजन के 2-3 घंटे बाद तरबूज खाना लाभदायक है। यदि तरबूज खाने के बाद कोई तकलीफ हो तो शहद अथवा गुलकंद का सेवन करें।
  10. तरबूज के लाल गूदे पर काली मिर्च, जीरा एवं नमक का चूर्ण डालकर खाने से भूख खुलती है एवं पाचनशक्ति बढ़ती है।
  11. यह रसीला फल गुर्दे की पथरी, कोलोन कैंसर, अस्थमा, दिल की बीमारी, र्यूमेटाइड अर्थराइटिस और प्रोस्टेट कैंसर का खतरा घटाता है।
  12. यदि आप अपने दिल को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो हर रोज तरबूज जरूर खाएं।
  13. एक नए अध्ययन में पाया गया है कि तरबूज आपके शरीर में हानिकारक कोलेस्ट्रॉल नहीं बनने देता और वजन कम करने में भी मदद करता है।weight-loss-using-barley-water
  14. नित्य तरबूज का ठंडा-ठंडा शरबत पीने से हमारे शरीर को शीतलता तो मिलती ही है साथ ही हमारे चेहरे पर गुलाबी-गुलाबी आभा भी दमकने लगती है।

विशेष ध्यान रखें :

  1. गर्म तासीरवालों के लिए तरबूज एक उत्तम फल है लेकिन वात व कफ प्रकृतिवालों के लिए हानिकारक है। अतः सर्दी-खाँसी, श्वास, मधुप्रमेह, कोढ़, रक्तविकार के रोगियों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  2. तरबूज खाकर तुरंत पानी या दूध-दही या बाजार के पेय नहीं पीने चाहिए।
  3. तरबूज खाने के 2 घंटे पूर्व तथा 3 घंटे बाद तक चावल का सेवन न करें।
  4. गर्म या कटा बासी तरबूज सेवन न करें। इससे कई बीमारियाँ फैलने की आशंका रहती है।

 

Loading...

Leave a Reply