हम आपको बताएंगे की कैसे आप अपने ब्लड में बढ़े हुए यूरिया से छुटकारा पा सकते है वो भी अपने घरे पर बैठे ही. हम करते क्या है यदि हमारे ब्लड में यूरिया की मात्रा बढ़ती है तो हम उसको हल्के में लेते है जबकि हमे उसको हल्के में बिलकुल भी नहीं लेना चाहिए क्योकि यदि हमारे ब्लड में यूरिया बढ़ा रहा है

तो इसका मीनिंग साफ है की हमारी किडनी सही तरह से काम नहीं कर रही है क्योकि यदि हमारी किडनी सही तरिके से काम करे तो हमारे ब्लड में यूरिया की मात्रा नहीं बढ़ेगी तब हमारी किडनी सही ढंग से फिल्ट्रेशन करती है

Kidney Function को चेक करने के लिए रक्त में मुख्य रूप से यूरिया (BUN -Blood Urea Nitrogen ), क्रिएटिनिन, पोटाशियम की मात्रा को मॉनिटर किया जाता है.
रक्त में सामान्य मात्रा
यूरिया (BUN ) – 7 – 25 mg/dl
पोटाशियम – 3.5 – 5.3 mmol/dl
क्रिएटिनिन – 0.6 – 1.3 mg/dl
रक्त में यूरिया (BUN -Blood Urea Nitrogen ), क्रिएटिनिन, पोटाशियम की मात्रा बढ़ने का अर्थ है की आप की किडनी सही तरीके से काम नहीं कर रही है.

किडनी हमारे शरीर की सफाई करती हैं जिसमे मुख्या तौर पर ये क्रिएटिनिन और यूरिया शरीर से यूरिन के ज़रिये बाहर निकालती हैं, मगर हमारी दिनचर्या और बिगड़ती आदतो के कारण ये अपनी कार्य क्षमता खो देती हैं जिस कारण से इन ज़हरीले तत्वों को शरीर से बाहर नहीं निकाल पाती और हमको भयंकर रोग लग जाते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे नुस्खे जिन से आपकी किडनी बिलकुल सही काम करने लग जाएगी। आप धैर्यपूर्वक इनका उपयोग करे। और दुसरो को भी बताये।

किडनी का क्रिएटिनिन और यूरिया का लेवल अगर बढ़ जाए तो आप कुछ उपचार करे जो बिलकुल निर्दोष हैं और 90% मरीजों को फायदा देते हैं।

चीनी और सफ़ेद नमक बिल्कुल बंद कर दे इसकी जगह शक्कर और सेंधा नमक इस्तेमाल करे।

सुबह खाली पेट लौकी का जूस निकाले 5-5 पत्ते तुलसी और पोदीने के डाल कर और इसको पिए।

100 ग्राम हरड़, 200 ग्राम बहेड़ा, और 300 ग्राम आंवला, इन सब का चूर्ण मिक्स करोगे तो ये त्रिफला चूर्ण बन जाएगा, अब इसमें 100 ग्राम गोखरू, और 300 ग्राम भूमि आंवला चूर्ण मिक्स कर ले। इस चूर्ण को 1-1 (5 gram) चम्मच सुबह शाम गुनगुने पानी के साथ ले।

दिन में एक समय पीपल के 15 पत्ते ले इनको कूट कर 2 गिलास पानी में उबाले, आधा रहने पर इसको छान कर पिए। नाश्ते के आधे घंटे बाद ये करे।

इसके साथ में आप सुबह नाश्ते के पहले ज्वार का काढ़ा बना कर पिए। 10 ग्राम ज्वार को एक गिलास पानी में डाल कर उबाले आधा रहने पर इसको पिए। और शाम के खाने के बाद पुनर्नवा का काढ़ा बना कर पिए। 5 ग्राम पुनर्नवा एक गिलास पानी में डाल कर उबाले और आधा रहने पर इसको छान कर पी ले।

एक टाइम के भोजन में सहजन की फली नियमित खाए। और भोजन में कड़ी पत्ता ज़रूर डाले। भोजन में दही का इस्तेमाल ज़रूर करे और दही में सेंधा नमक ज़रूर डाले।

भोजन में अलसी के तेल का इस्तेमाल करे। जिन लोगो का dialyasis चल रहा हैं वह भी ये प्रयोग कर सकते हैं।

इसके साथ में आपको सुबह जल्दी उठ कर कपाल भाति प्राणायाम भी करना होगा। ये सब करने के बाद आपको रिजल्ट एक से ३ महीने में मिल जाएगा। अगर आप डायलिसिस पर है तो आप प्राणायाम किसी शिक्षक की देख रेख में करे।

Leave a Reply