अगर व्रत या उपवास रखकर भी खुद को फिट और फाइन रखना है तो अपने खान-पान पर पहले ध्यान दें। निर्जला व्रत करने के पहले अपने डायट में उन चीजों को शामिल करें जो आपको इम्युनिटी पावर को बढ़ाकर एनर्जी लेवल को ठीक रखें।

hurma_tatlisi_tarifi-575x262

  • व्रत के दौरान या व्रत के पहले नारियल पानी पीने से शरीर को एनर्जी तो मिलती ही है साथ ही शरीर हाइड्रेट भी रहता है।
  • गुड़ में आयरन होता है जो आपको दिन भर काम करने के लिए एनर्जी से भरपूर रखने की क्षमता रखता है।
  • जीरा पानी को पीना न भूलें क्योंकि ये एसिडिटी के समस्या से बचाता है। सिर्फ उपवास के समय नहीं बल्कि नियमित रूप से लेने की भी आदत डालनी चाहिए। इसको बनाने के लिए एक गिलास पानी में जीरा पाउडर डालकर पाँच मिनट तक उबालकर जीरा पानी बना लें।
  • फलों में खरबूज और तरबूज खायें क्योंकि इससे शरीर में जल की मात्रा संतुलित रहती है और डिहाइड्रेशन की समस्या नहीं होती है।
  • आप खाने के बाद दही भी खा सकते हैं जिससे पेट संबंधी कोई समस्या नहीं होगी।
  • अपनी डायट में कीवी को भी शामिल कर सकते हैं जो आपके शरीर के प्रतिरोधी क्षमता को बढ़ाने में मदद करती है लेकिन डाइबीटिक रोगी इसका सेवन न करें।
  • आंवले का मुरब्बा खाने से खाली पेट रहने से एसिडिटी की समस्या नहीं होती है और थकान महसूस नहीं होता है।
  • उपवास के पहले बादाम और अखरोट खायें जिससे कि आपके शरीर का इम्युनिटी लेवल बना रहें।

वैसे तो डाइबीटिक लोगों को व्रत करने से बचना चाहिए लेकिन अगर व्रत करना ही है अपने डायट का सिलेक्शन बहुत ध्यान से करना ज़रूरी होता है।
डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए अपनी डायट का चुनाव करना मुश्किल हो जाता है, वो इनका ख़्याल रखें-

  • छाछ  और दही भी खा सकते हैं।
  • दूधी या लौकी का सब्जी बनाकर खा सकते हैं क्योंकि ये आपके शरीर में जल की मात्रा को कम होने नहीं देता है। साथ ही पेट को शांत रखता है।
  • डाइबीटिक मरीज़ अपने डायट में आलमंड और वालनट तो ले ही सकते हैं।

fruit montage

ये तो उपवास के पहले डायट की बात हुई लेकिन सवाल यह है कि क्या उपवास के अगले दिन भी एकदम सब कुछ खाना शुरू करना सेहत के नजर से ठीक होता है? जवाब़ है, नहीं। क्योंकि उपवास के बाद सब कुछ खाना शुरू कर देने से पेट की समस्या हो सकती है। इसलिए उपवास के अगले दिन खट्टे फल न खायें इससे एसिडिटी होने की पूरी संभावना होती है।

  • दीपशिखा अग्रवाल का कहना है कि अक्सर लोग उपवास के बाद साबुदाना की खिचड़ी खाते है लेकिन यह डाइबीटिक मरीज़ों के लिए अच्छा नहीं होता है क्योंकि इसमे ग्लिसेमिक इंडेक्स ज्यादा होता है।
  • खाने की शुरूआत एक बाउल पपीता या फल खाकर करनी चाहिए। डाइबीटीज़ के रोगी भी इस फल का सेवन कर सकते हैं।
  • फल खाने के एक घंटा बाद ऐसा भोजन करें जो आसानी से हजम हो जाये, जैसे दलिया या राजगीरे की रोटी आदि।

इन बातों का ध्यान रखें और उपवास को स्वस्थ तरीके से पूर्ण करें।

Loading...

Leave a Reply