नमक खाने का स्वाद बढ़ा भी सकता है और बिगाड़ भी, लेकिन अधिकतर लोग यह बात नहीं जानते कि नमक सेहत के साथ भी वही करता है जो स्वाद के साथ। हमारे शरीर के लिये नमक की मात्रा निर्धारित है अगर नमक की मात्रा उससे कम या ज्यादा हुई तो संतुलन बिगड़ जाता है जो सेहत के लिए नुकसानदेह है । अधिक मात्रा में नमक या चीनी के सेवन से शरीर में कैलोरीज़ बढ़ती हैं और कैंसर का जोखिम भी बढ़ता है।

big-salt

निर्जलीकरण

शरीर में ज्यादा नमक की मात्रा से निर्जलीकरण यानी डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। शरीर में डिहाइड्रेशन की समस्या नहीं हो इसके लिए आप नमक की संतुलित मात्रा लेने के साथ भरपूर पानी पीए।

हाई ब्लड प्रेशर

विशेषज्ञों के अनुसार नमक से हाई बीपी (ब्लेड प्रेशर) का सीधा संबंध है। इसलिए अपने खाने में नमक कम डालें। साथ ही अगर आपको कभी खाने में नमक कम लगे तो इसे ऊपर से ना डालें। यह याद रखें कि नमक का ज्यादा मात्रा में सेवन आपके रक्त संचरण और ब्लड प्रेशर को बिगाड़ सकता है।

वाटर रिटेंशन

शरीर में नमक की मात्रा ज्यादा होने पर पानी जरूरत से ज्यादा जमा हो जाता है। यह स्थिति वाटर रिटेंशन या फ्लूड रिटेंशन कहलाती है। ऐसी स्थिति में हाथ, पैर और चेहरे में सूजन हो जाता है। इससे त्वचा भी सूज जाती है। इसलिए शरीर में नमक की मात्रा का ध्यान रखने के साथ भरपूर मात्रा में पानी का सेवन करना चाहिए।

दिल की बीमारी

ऐसा कहा जाता है कि नमक के ज्यादा सेवन से दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए स्वस्थ दिल की खातिर आप अपने खाने में नमक की मात्रा का संतुलन बनाए रखे।

heart-disease-or-cardiac-problems

Loading...

Leave a Reply