लाल रंग का रसीला स्ट्रॉबेरी अपनी मनमोहक सुगंध व स्वाद के कारण विश्व का सर्वाधिक लोकप्रिय फल माना जाता है। स्‍ट्रॉबेरी का नाम सुनते ही हर किसी के मुंह में पानी आ जाता है। कई लोग इसे बहुत पसंद करते हैं मगर कुछ लोगों को यह बिल्‍कुल भी पसंद नहीं। इसका कई रूपों में उपयोग किया जाता है। स्ट्रॉबेरी का मिल्क शेक हो या फिर आइसक्रीम अथवा स्ट्रॉबेरी का मीठा दही या फिर जैम, किसी भी रूप में क्यों न हो, स्ट्रॉबेरी अपनी मनमोहक सुगंध के कारण विश्व का सर्वाधिक लोकप्रिय फल है।

strawberry

अब लगभग पूरे भारत में स्ट्रॉबेरी का फल उपलब्ध होता है और ताजे फल से लेकर विभिन्न रूपों में प्रयोग किया जाता है। जो फल केवल महाबलेश्वर, ऊटी जैसे पर्वतीय प्रदेशों में उपलब्ध था, अब गर्म रेगिस्तानी क्षेत्रों को छोड़कर सभी जगह इसकी कृषि होती है। आज कह स्‍ट्रॉबेरी का ही सीजन है तो, अगर आप स्‍ट्रॉबेरी नहीं खाते, तो अब खाना शुरु कर दीजिये।

स्‍ट्रॉबेरी ना केवल स्‍वाद में ही लाजवाब होती है मगर इसके कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ भी हैं। दरअसल हाल ही में हुए एक अध्ययन में पता चला है कि स्ट्रॉबेरी हमारे भीतर हृदय रोगों और मधुमेह का विकास नहीं होने देती। आइये और जानते है लाल और स्‍वाद भरी स्‍ट्रॉबेरी के बारे में-

प्रतिरक्षा को बढाती है

स्‍ट्रॉबेरी में विटामिन सी होता है जो कि आपके दिनभर की विटामिन सी की कमी को पूरा करती है। यह एक आपी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढा सकती है, जिससे आप दिनभर लगन से काम कर सकें।

हड्डियों को मजबूती दे

स्‍ट्रॉबेरी में मैग्‍नीज अधिक पाया जाता है जो कि हड्डियों का ठीक प्रकार से विकास करता है। हड्डियों के लिये पोटैशियम, मैग्‍नीशियम, विटामिन के आद‍ि बहुत आवश्‍यक पोषण हैं।

आंखों के लिये स्‍ट्रॉबेरी

इसमें एंटीऑक्‍सीडेंट तत्‍व होता है जो कि आंखों को मोतियाबिंद से बचाता है। हमारी आंखो को विटामिन सी की आवश्‍यकता होती है जिससे वह कडी सूरज की रौशनी और यूवी रेज से लड़ती नहीं तो आंखों के लेंस की प्रोटीन नष्‍ट हो सकती है।

eyes

कैंसर से लडे़

स्‍ट्रॉबेरी में एंटीऑक्‍सीडेंट और कैंसर से लड़ने वाले तत्‍व होते हैं जो कि कई तरह के कैंसर से लड़ सकते हैं। इसमें फ्लेवोनॉइड, फोलेट, केंफेरॉल और विटामिन सी होता है जो कि कैंसर पैदा करने वाले सेल का नाश करता है।

जोड़ों की सूजन को कम करे

स्‍ट्रॉबेरी में एंटीऑक्‍सीडेंट और फाइटोकैमिकल होते हैं जो कि जोड़ों की सूजन को कम करता है।

swellling in joints

रंगत निखारने के लिए

स्ट्रॉबेरी में कई तरह के ऐसे मिनरल्स होते हैं जो त्वचा की रंगत को निखारने में मददगार होते हैं. इसके अलावा ये काले होंठों को गुलाबी बनाने के लिए भी एक कारगर उपाय है. आप चाहें तो इसे स्क्रब की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं. इसका मास्क भी रंगत को निखारने के लिए बहुत फायदेमंद है.

बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने के लिए

इसमें मौजूद विटामिन सी और एंटी-ऑक्सीडेंट बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने में मददगार होता है. इसमें मौजूद लाइकोपीन त्वचा की झुर्रियों और बारीक रेखाओं को साफ करने का काम करता है. आप चाहें तो स्ट्रॉबेरी खाकर इसका लाभ ले सकते हैं या फिर दूध के साथ इसका पेस्ट बनाकर चेहरे पर मास्क की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं.

ब्‍लड प्रेशर ठीक करे

पोटैशियम दिल के स्‍वास्‍थ्‍य के लिये अच्‍छा है, यह हाई ब्‍ल्‍ड प्रेशर को लो करने में मदद करता है।

Risk-Factors-For-Heart-Disease-High-Blood-Pressure-700x395

पाचन ठीक रखती है

स्ट्रॉबेरी के सेवन से पाचन क्रिया भी सही रहती है। यानी लिवर और पेट से संबंधित रोगों में बेहद फायदेमंद है।

ऑस्टियोऑर्थराइटिस से बचाए

फिनॉल्स की मौजूदगी की वजह से ही स्ट्रॉबेरी ऑस्टियोऑर्थराइटिस और अस्थमा जैसी समस्याओं में भी राहत देता है।
 हार्ट अटैक

इसमें पोटैशियम होता है जो कि हार्ट अटैक और स्‍ट्रोक के रिस्‍क को कम करता है। साथ ही इस फल में फोलेट होता है जो कि लाल रक्‍त कोशिकाओं का निमार्ण करता है।

healthy_heart

दांतों में चमक लाए

इसमें एसिड होता है जो कि दांत से दाग को साफ कर के उन्‍हें चमकदार बनाती है। आपको करना केवल इतना है कि फल को आधे भाग में काटिये और उससे अपने मसूड़ों और दांतों को रगड़े। इससे मसूड़े मजबूत भी बनते हैं।

white teeth

कील-मुंहासों की समस्या के लिए
स्ट्रॉबेरी का इस्तेमाल कील-मुंहासों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए भी किया जाता है. इससे इस्तेमाल से पोर्स खुल जाते हैं जिससे त्वचा की भीतरी परत में मौजूद विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और चेहरे की गंदगी साफ हो जाती है. गंदगी साफ हो जाने की वजह से कील-मुंहासों की समस्या भी दूर हो जाती है.

डेड स्किन साफ करने के लिए
स्ट्रॉबेरी के इस्तेमाल से डेड स्क‍िन बहुत आराम से साफ हो जाती है. डेड स्किन साफ हो जाने से चेहरे पर निखार आता है और ग्लोइंग स्क‍िन मिलती है.
वजन घटाए
स्ट्रॉबेरी  में फैट फ्री और लो कैलोरी वाली होती है जिसमें ना तो शक्‍कर होती है और ना ही सोडियम। रोजाना डेढ़ कप स्‍ट्रॉबेरी खाने से आपको बाहर का कोई स्‍नैक्‍स खाने की जरुरत नहीं पडे़गी जिससे वजन नियंत्रण में रहेगा।

weight-loss-using-barley-water

Loading...

Leave a Reply