मधुमेह बीमारी में रक्त में शर्करा की मात्रा सामान्य से अधिक हो जाती है। अगर आपको मधुमेह हो गया है तो आपको अपने खाने-पीने  का पूरा ख्याल रखना चाहिए, ताकि आपका डायबिटीज़ कंट्रोल में रहे, इसके लिए आपको अच्छा पौष्टिक आहार लेना चाहिए। मधुमेह के रोगी हेल्दी ड्रिंक लेकर भी इस बीमारी को कंट्रोल कर सकते है। आइए जानते है मधुमेह में आप कौन से हेल्दी ड्रिंक ले सकते हैं और स्वस्‍थ रह सकते है।

bitter

पानी

इसमें ना तो कैलोरी, फैट और ना ही कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। इसको पीने से शुगर लेवल भी प्रभावित नहीं होगा। इनटॉक्‍सीनेशन और शरीर में सोडियम जमा हो सकता है।  पानी में शहद मिला कर पिएं। इसके अलावा नींबू भी निचोड़ सकते हैं।

चाय

चाय में एंटीऑक्‍सीडेंट पाया जाता है जिससे आप हमेशा जवां बने रहेंगे। बिना चीनी की चाय पिये, यदि ऐसा कर पाना असंभव है तो आर्टिफीशियल शुगर डालें। चाय में यदि कैलोरी नहीं चाहते हैं तो उसमें स्‍किम मिल्‍क डाल कर प्रयोग करें।
कॉफी

मधुमेह रोगी कॉफी पी सकते हैं लेकिन कम मात्रा में मिली हुई चीनी का प्रयोग करने के बाद। ब्‍लैक कॉफी वो भी बिना चीनी और क्रीम डाले हुए। यदि आपको ब्‍लैक कॉफी अच्‍छी नहीं लगती तो आप उसमें स्‍किम मिल्‍क और आर्टिफीशियल शुगर डाल कर पी सकते हैं।

Drinking

दूध

इसमें खूब सारा विटा‍मिन और कैल्‍शियम पाया जाता है जो कि पाचन तंत्र को मजबूत बनाएगा।  इस पेय में कैलोरीज और कार्बोहाइड्रेट शामिल है। दूध में कैलोरी होने की वजह से आप स्‍किम मिल्‍क का प्रयोग कर सकते हैं। गाय की दूध की जगह पर बादाम और सोया मिल्‍क पी सकते हैं।

जूस

डिब्‍बा बंद जूस की जगह पर हमेशा फ्रेश जूस ही पीना चाहिये क्‍योंकि इसमें पोषक तत्‍व मिले होते हैं। सब्‍जियों तथा फलों का जूस हमेशा सीमा में रह कर और कैलोरी, सोडियम तथा कार्बोहाइड्रेट की मात्रा को ध्‍यान में रख कर पीना चाहिये। कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी की ज्‍यादा मात्रा सब्‍जियों के रस में पाया जाता है इसलिये फलों की जगह पर सब्‍जियों का सेवन करें।

Bitter-Melon

साफ्ट ड्रिंक

अगर आप साफ्ट ड्रिंक पीने के शौकिन है तो साफ्ट ड्रिंक जरूर पीएं मगर कम मात्रा में, क्योंकि साफ्ट ड्रिंक में शुगर की मात्रा ज्यादा होती है। साथ ही कोशिश करें कि जो भी साफ्ट ड्रिंक पीएं वो शुगर फ्री हो।

Loading...

Leave a Reply