हार्ट पलपिटेशन में हृदय की गति अनियमित हो जाती है। इस समस्या से बचने के लिए हर्ब की मदद ले सकते हैं। आइए जानें ऐसे खास हर्ब के बारे में।

हृदय में किसी भी प्रकार की अनियमितता या हृदय गति बढ़ जाना या धड़कन के तेज होने की स्थिति को हार्ट पलपटिशेन कहते हैं। इस समस्या से बचने के लिए आप चाहें तो कई तरह के हर्ब की मदद ले सकते हैं। ये हर्ब हृदय को स्वस्थ रखने के साथ ही रक्तचाप की समस्या से भी निजात दिलाते हैं। आइए जानें कौन से हैं वो हर्ब ।

ग्रीन टी

नियमित रुप से ग्रीन टी का सेवन करना दिल के लिए फायदेमंद हो सकता है। अमेरिकी हार्ट एसोसिएशन की पत्रिका में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक यदि आप हर रोज ग्रीन टी का सेवन करते हैं तो हृदयाघात का खतरा काफी हद कम हो सकता है।

greenteaap_0

हॉथोर्न

वैज्ञानिक शोधों के मुताबिक हॉथोर्न की मदद से रक्तचाप को कम किया जा सकता है। उच्च रक्तचाप हृदय के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। इससे हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है क्योंकि रक्तचाप बढ़ने से ऑक्सीजन की सप्लाई में समस्या आती है।

6a014e86df0365970d01538df40552970b

अलसी

अलसी के बीज में ओलिक एसिड के अलावा आमेगा 3 फेटी एसिड जो हृदय को स्वस्थ रखते हैं। इसके अलावा अलसी में कुछ मात्रा में चीनी, प्रोटीन, कैल्शियम, पोटेशियम, लोहा, जिंक फॉस्फोरस भी पाया जाता है। इसमें कोलेस्ट्रॉल व सोडियम की मात्रा कम तथा रेशे की मात्रा प्रचुर होती है।

8e44804083e144c4cacfc91c09cce4d8

जिनसेंग

यह इम्यून सिस्टम के लिए जरूरी तत्व है। तमाम शोधों में पाया गया है कि जिनसेंग का प्रयोग करने वाले लोगों में रक्तचाप का खतरा कम होता है साथ ही वे हृदय रोग से भी बचे रहते हैं।

ginseng_leaves_berries

चोकेबेरी

चोकेबेरी में विटामिन  ए, सी और के पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। शोधकर्ताओं के मुताबिक यह हृदय से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में काफी मददगार होता है। एंटीऑक्सीडेंट का गुण होने के कारण यह रक्त चाप और एलडीएल की मात्रा को भी कम करता है।

sibirska-aronija-slika1

लेवेंडर

लेवेंडर ऑयल में एंटीबैक्टेरियल, एंटीसेप्टिक तत्व पाए जाते हैं जो हृदय की मांसपेशियों को स्वस्थ रखते हैं। लेवेंडर के प्रयोग से हृदय धमनियां स्वस्थ और मजबूत रहती है जिससे आप भी स्वस्थ बने रहते हैं।

642x361_What_Lavender_Can_Do_for_You

लहसुन

हृदय रोगियों के लिए लहसुन बेहद फायदेमंद मानी जाती है। यह कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम करने में सहायक है। इसके सेवन से रक्त संचार में व्यवधान नहीं आता तथा रक्त की धमनियों में लचीलापन बना रहता है। भोजन के बाद कच्चे लहसुन का सेवन या इसे दूध में उबाल कर पीना इस रोग में बेहद लाभकारी है। दिल के मरीजों को लहसुन का नियमित सेवन जरूर करना चाहिए।

garlic-with-parsley-leaves

ओरेगेनो

यह हर्ब पौटेशियम का एक अच्छा स्रोत है। शरीर के अंगों और कोशिकाओं के लिए यह एक अच्छा तत्व है। यह हृदय की तेज धड़कनों को नियंत्रित करता है और रक्तचाप जैसी गंभीर समस्या से भी छुटकारा दिलाता है। यह ओमेगा-3 फैटी एसिड का प्राकृतिक स्रोत है जो कि हृदय रोग को दूर रखने में मददगार होता है।

industryhealthiermed142_01

काली मिर्च

काली मिर्च में पिपराइन होते है जो कोलेस्ट्रोल को कम करता है और हृदय की गतिविधि को बढ़ाता है। जिन लोगों को एक बार हार्ट अटैक हो चुका है वे काली मिर्च की मदद से हृदय को स्वस्थ रख सकते हैं।

black-pepper-beef-4

Loading...

Leave a Reply