कई लोगों का ऐसा मानना है कि केला खाने से वह मोटे होते हैं। केले की जगह वे सेब, अनार, अमरूद, तरबूज़, खरबूजा आदि फलों का सेवन करना ज़्यादा प्रभावशाली मानते हैं। यह सभी फल फाइबर युक्त होने के साथ शरीर में पानी की कमी को भी पूरा करने में मददगार साबित हैं। लेकिन कैल्शियम युक्त केला खाने से वह सोचते हैं कि वह मोटे हो जाएंगे।

अगर आप सेब पसंद करते हैं और केवल सेब के फायदों को ही जानते हैं, तो इस नए शोध को पढ़ने के बाद आप केले को भी पसंद करने लगेंगे. एक नए शोध में साबित हुआ है कि हर दिन एक केला खाने से अंधेपन का खतरा दूर होता है. शोधकर्ताओं ने अध्ययन के दौरान केले में कैरोटिनॉइड यौगिक पाया है. यह फलों, सब्जियों को लाल, नारंगी और पीला रंग देता है, जो लीवर में जाकर विटामिन ए में परिवर्तित हो जाते हैं, जो आंखों के लिए बहुत फायदेमंद है.

पिछले अनुसंधान में भी पता चला है कि कैरोटिनॉइड के उच्च स्तर वाले खाद्य पदार्थ भी खतरनाक रोगों जैसे कैंसर, हृदय रोग और मधुमेह से सुरक्षा प्रदान करते हैं.

banana

अध्ययन में पता चला है कि केला प्रोविटामिन ए कैरोटिनॉइड से भरपूर होता है, जो आंखों के लिए महत्वपूर्ण विटामिन ए की कमी को पूरा करने के लिए एक संभावित खाद्य स्रोत प्रदान कर सकता है.

विटामिन ए की कमी से निपटने के लिए शोधकर्ताओं ने केले में कैरोटिनॉइड को बढ़ावा वाले तरीकों की जांच की थी.

 

Loading...

Leave a Reply