बढ़ते तनाव व निष्क्रिय जीवनशैली के कारण हृदय रोगियों की संख्या आज लगातार बढ़ रही है। ऐसे में कॅारानरी  आर्टरी, एरिथ्मियास, हार्ट वाल्व बीमारी, कार्डियोमेगाली जैसी कई बीमारियां हो रही हैं। ऐसी बीमारियों से बचने के लिए आपको इन्हें समझना चाहिए। आज के समय में किसी को भी हृदय रोग हो सकता है, लेकिन अगर आप पहले से ही ओवरवेट हैं, मधुमेह के मरीज़ हैं तो आपको अधिक सावधानी बरतनी चाहिए। हृदय रोगों का एक बड़ा कारण है तनाव। तनाव के कारण रक्तचाप बढ़ता है और इससे हृदय स्वास्थ्य भी प्रभावित होता है।

स्वस्थ हृदय के लिए व्यायाम

हृदय रोगों का खतरा कम करने के लिए ज़रूरी है उच्च रक्तचाप, उच्च कॅालेस्ट्राल के स्तर को कम करना, जिससे गंभीर रोगों की संभावना भी कम की जा सके। स्वस्थ हृदय के लिए व्यायाम बेहद बहुत ही आवश्यक है लेकिन ऐसे बहुत से लोग हैं जो जिम और हेल्थ क्लब जैसे महंगे विकल्प पर पैसे लगाते हैं और उन्हें सही परिणाम भी नहीं मिलते। प्रतिदिन थोड़ी देर टहलकर भी आप अपने वजन को नियंत्रित रख हृदय को स्वस्थ रख सकते हैं। अपना वज़न नियंत्रित कर सकते हैं ।

exercise जब रखना हो हृदय स्वस्थ तो लाएं जीवनशैली में ये सुधार exercise

यूं रखें अपने दिल का ख्याल

हृदय की बीमारियों के होने के बहुत से कारणों में से अनुवांशिक कारण भी एक है। अनुवांशिक कारणों को आप बदल नहीं सकते, लेकिन तनाव और अन्य कारणों से आप बच सकते हैं। इसलिए दिल के रोगों की आशंका को कम करने के लिए जानें कि आप कैसे रख सकते हैं अपने दिल का ख्याल:
आपके घर में अगर पहले से ही किसी सदस्य को हृदय रोग है तो आप भी अपनी जांच करायें। रक्तचाप और कॅालेस्ट्राल के स्तर को नियंत्रित बनाये रखें। उच्च रक्तचाप या निम्न रक्तचाप की समस्या होने पर भी लापरवाही ना बरतें। समय-समय पर रक्तचाप और कॅालेस्ट्राल के स्तर की जांच कराते रहें और चिकित्सक से मिलने में देर न करें।

स्वस्थ हृदय के लिए आहार

स्वस्थ हृदय के लिए कम तेल घी वाले आहार का सेवन करना चाहिए। ज़्यादा तेल घी वाले खाद्य पदार्थ से निकलने वाले फैट (ट्रांस फैट व सैचुरेटेड फैट) हृदय की ओर जाने वाली धमनियों के रास्ते मे रूकावट पैदा करते हैं, जिससे हृदय की समस्याएं बढ़ जाती हैं। ऐसी समस्याओं से बचने के लिए ऐसे ही आहार का सेवन करें जो हृदय स्वास्थ्य के लिए अच्छे हों। फल ना खाने के लिए आपके पास समय के अलावा कई और बहाने होंगे, लेकिन इतना मुश्किल नहीं फलों का सेवन इतना भी मुश्किल नहीं है। अपने खाने में फलों और सलाद की मात्रा बढ़ाने के लिए सुबह के नाश्ते में अंगूर या केले का सेवन करें, बाहर जाने पर आप सेब या संतरा रख सकते है। घर में काफीकॉफी या चाय की जगह फलों के जूस का सेवन करें।

food-groups जब रखना हो हृदय स्वस्थ तो लाएं जीवनशैली में ये सुधार food groups

Leave a Reply