अगर कैंसर तीसरे स्‍टेज में हैं तो उसके उपचार के लिए अलग विधि अपनायी जाती है। नॉन-स्मॉल सेल लंग कैंसर पहले स्तर वाले ट्यमर छोटे होते हैं और आस-पास के ऊतक या अंगों को नुकसान नहीं पहुंचाते हैं। दूसरे और तीसरे स्तर वाले ट्यूमर आस-पास के ऊतक और अंगों को नुकसान पहुंचाते हैं और लसीका गांठों तक फैल जाते हैं। चौथे स्‍टेज पर ट्यूमर छाती के बाहर फैल जाते हैं।

लंग कैंसर की चिकित्‍सा

सर्जरी

यदि कैंसर छाती में है और इसके छाती के बाहर फैलने के कोई भी संकेत नहीं मिलते हैं तो ऐसे सभी नॉन-स्मॉल सेल लंग कैंसर को सर्जरी के जरिए हटाया जाता है। इसक लिए सर्जरी इन प्रकारों का उपयोग किया जा सकता है

  1. वेज रिसेक्शन – इसमें केवल फेफड़े के छोटे से भाग को हटाया जाता है।
  2. लॉबेक्टॉमी – इसके जरिए फेफड़े के एक हिस्से को हटाया जाता है।
  3. न्यूमॉनेक्टॉमी – इसमें पूरे फेफड़े को सर्जरी के जरिए हटाया जाता है।

Lung Cancer फेफड़े के कैंसर का इलाज कैसे करें treatment surgery lung5

रेडिएशन थेरेपी

  1. एक्‍सटर्नल बीम रेडिएशन – इसके जरिए बाह्य विकिरण से प्रभावित क्षेत्र में मशीनों का उपयोग करते हुए रेडियो तरंगो के प्रभाव से आसपास के क्षेत्र में शेष परिरक्षण दिया जाता है।
  2. इंटर्नल रेडिएशन – इसमें विशेष कैप्सूल या रेडियोधर्मी दवा का उपयोग कर सीधे शरीर के अंदर ट्यूमर के ऊतक के पास दिया जाता है, जो धीरे-धीरे प्रभाव करती है।

Cancer Treatment फेफड़े के कैंसर का इलाज कैसे करें breast cancer in hindi 1 633x319

कीमोथेरेपी

अक्सर लंग कैंसर का पता तब चलता है जब यह अन्‍य हिस्‍सों में फैल चुका होता है और तब सर्जरी द्वारा इसे हटाना सम्भव नहीं होता है। जब ट्यूमर काफी फैल जाता है और इसका इलाज नहीं किया जा सकता तो कैंसर की वृद्धि को धीमा करने के लिए कीमोथेरेपी की सलाह दी जाती है। कीमोथेरेपी ने लक्षणों में कमी प्रदर्शित की है और लंग कैंसर के गम्भीर मामलों में भी सर्जरी से इसका इलाज संभव हो पाया है।

Leave a Reply