किडनी में पथरी की समस्या धीरे-धीरे आम होती जा रही है। हाल ही के दिनों में किडनी स्टोन रोगियों की संख्या में बहुत इजाफा हुआ है। उत्तर भारत में किडनी स्टोन के ज्यादातर मामले पाए गए हैं और इसी वजह से उत्तर भारत को ‘स्टोन बेल्ट’ के नाम से भी जाना जाता है।
ज्यादातर मामलों में किडनी स्टोन की समस्या 20-50 की उम्र में होती है। महिलाओं की तुलना में यह रोग पुरुषों में ज्यादा पाया जाता है। मूत्रतंत्र से जुडी इस बीमारी में किडनी के भीतर छोटे-छोटे पत्थर जैसे कठोर टुकड़े बन जाते है जो तकलीफदेह होते हैं

किडनी स्टोन होने के कारण :

  • गलत खान पान, अनुचित दिनचर्या इस रोग की प्रमुख वजहों में से एक है। खाने में नमक का ज्यादा इस्तेमाल भी इस रोग के पीछे का मुख्य कारण है। शरीर के भीतर जब नमक और अन्य खनिज पदार्थ एक दुसरे के संपर्क में आते हैं तो पथरी बनने की प्रक्रिया शुरू होती है। शुरुआत में इन पथरियों का आकार  बहुत छोटा होता है जिस वजह से ये पेशाब के रास्ते बाहर आ जाते हैं। धीरे धीरे जब इनका आकार बढ़ता है तब यह बीमारी तकलीफदेह हो जाती है और तब इलाज और एहतियात की जरूरत पड़ती है। किडनी में स्टोन होने के कुछ अन्य कारण भी हैं जो निम्नलिखित हैं:
1. अनुवांशिक कारण
2. तनाव (हाइपरटेंशन)
3. मोटापा
4. डायबिटीज (मधुमेह)
5. आँतों से जुडी समस्याएं
6. कम पानी पीना
7. लम्बे समय तक डायरिया की शिकायत
8. गैस्ट्रिक बाईपास सर्जरी
9. कैल्सियम की कमी


किडनी स्टोन को दूर करने के कुछ घरेलु उपाय :
  1. प्याज़ का रस : प्याज में गुर्दे की पथरी के इलाज के लिए औषधीय गुण पाए जाते हैं। इसका प्रयोग से हम किडनी में स्‍टोन से निजात पा सकते है। लगभग 70 ग्राम प्‍याज (5-10 ml  रस) को पीसकर और उसका रस निकाल कर पियें। सुबह, शाम खाली पेट इस प्‍याज के रस में 5 ग्राम सफ़ेद मिश्री मिलकर नियमित 5 दिन तक सेवन करने से पथरी छोटे-छोटे टुकडे होकर निकल जाती है। पथरी बड़ी हो तो ये प्रयोग 20 दिन तक जारी रखे। आप विश्वास रखे क्यूँकि मेने  लगभग 250 लोगों  को ये उपाय बताया उनको 3 दिन से असर महसूस होने लगा। जेसे आप ये प्रयोग चालू करेंगे तो 3-5 दिन बाद एक या दो दिन तक आपको हल्का सा रक्त युक्त लाल पेशाब आएगा ये संकेत है की आपकी पथरी के छोटे छोटे टुकड़े हो गये। फिर धीरे धीरे ये पथरी पेशाब के राशते निकल जाएगी। आपको इससे सम्बंधित कोई भी जानकारी लेनी हो तो आप मैल द्वारा सम्पर्क कर सकते है।
  2. अनार : रोजाना एक अनार खाना या इसका रस पीना किडनी स्टोन में काफी फायदेमंद होता है।
  3. निम्बू का रस और जैतून का तेल : निम्बू का रस और जैतून का तेल बराबर मात्र में मिलाकर दिन में दो से तीन बार पियें। किडनी स्टोन से राहत मिलेगी।
  4. तरबूज : किडनी स्टोन से राहत के लिए नियमित रूप से तरबूज का सेवन करें। तरबूज में मैग्निशियम, कैल्शियम और पोटैशियम की अच्छी खासी मात्रा होती है जो किडनी के लिहाज से काफी फायदेमंद होता है। पोटैशियम पेशाब में एसिड लेवल को नियंत्रित रखता है। तरबूज में पानी की मात्रा भी ज्यादा होती है जिस वजह से प्राकृतिक तरीके से किडनी से स्टोन बाहर निकल जाता है।
  5. व्हीटग्रास : वीटग्रास को पानी में उबाल लें। पानी जब ठंडा हो जाए तो इसे पियें। रोजाना  ऐसा करने से किडनी स्टोन और किडनी से जुडी कई और बिमारियों में काफी आराम मिलता है।
  6. तुलसी : चमत्कारी औषधीय गुणों से परिपूर्ण तुलसी किडनी स्टोन में भी काफी फायदेमंद साबित होती है। 6 महीनो तक  रोजाना 1 चम्मच तुलसी के पत्तो के रस के साथ ताजा शहद मिलाकर पीने से किडनी में पथरी का बनना बंद हो सकता है।

Leave a Reply