बालो का गंजापन ख़तम करने के लिए व्यक्ति क्या कुछ नहीं करता, वह सभी तरह की बाजारू दवा oil सिर में लगाता है. लेकिन यह सब तरीके आजमाने के बाद भी कुछ हासिल नहीं होता. सिर एक रेगिस्तान की तरह बंजर हो जाता है. ऐसे में आपको आयुर्वेदिक नुस्खे जरूर अपनाने चाहिए क्योकि आयुर्वेद के जरिये लाइलाज रोग का भी इलाज हो जाता है. कई लोगों का कहना है की सभी चीजों का इस्तेमाल करने के बाद आयुर्वेद का सहारा लिया, और हमे बहुत फायदा मिला. इसीलिए आपको भी इनको एक बार तो जरूर अपनाना चाहिए

गंजापन एक जेनेटिकली, विटामिन्स की कमी और ज्यादा तनाव में रहने आदि इन तीनो करने से होता है. इसलिए आप इन तीनो में से अपने कारण को पहचान कर उसे भी दूर करे. तनाव है तो तनाव दूर करे, विटामिन्स की कमी है तो उसके अच्छा आहार लेना शुरू करे. नोट : याद रखे बाल उगाने के तरीके तभी सफल होंगे जब आप नियमित रूप से उनका प्रयोग करेंगे

गंजेपन का इलाज और बाल उगाने के उपाय

सबसे पहले नए बाल उगाने के घरेलु उपाय में आप दो प्याज ले (लाल प्याज) ले और इन्हे बारीक-बाइक गोलाई के आकर में काट लें अब एक बर्तन को गैस पर रखे और उसमे 250 ML purified water डाल दें और गैस को मध्यम आंच में चालु कर दें और 10-12 मिनट तक इसे उबलने दें. फिर 10-12 मिनट के बाद इसे 10 घंटो के लिए ढंक कर रख दें. फिर 10 घंटो के बाद इसमें आधा नींबू का रस मिला दें. अच्छे से मिलाने के बाद इस बर्तन के पानी को छानकर spray bottle में भर लें (इसमें डाले गए प्याज के छिलको को अब बाहर निकल कर फेंक दें). Spray Bottle आपको cosmetic शॉप पर मिल जाएगी और न मिले तो कांच की शीशी में भी भर सकते है

विधि : अब रोजाना रात को सोने से पहले अपने सिर के गंजेपन पर इस आयल का Spray करे, अगर आपके पास Spray Bottle नहीं है तो प्याज के इस रस को रुई Cotton में भिगोकर सिर पर अच्छे से लगाए और सुबह अपना अच्छे शैम्पू से सिर धो लें. यह गंजेपन का आयल 15-20 दिन में नए बाल उगाने की क्षमता रखता है, इसीलिए इसे सबसे असरकारी बालो को उगाने का तरीका माना जाता हैं.

दूसरा घरेलु उपाय – गंजेपन का इलाज करने के लिए आधा कटोरी तिल का तेल, दो चम्मच लौंग, एक चम्मच लहसुन का रस, 1 छिला हुआ आलू. अब इन सभी को आपस में मिला लें आलू को बारीक़ काट कर इन सभी के साथ मिला दें. अब इन सभी को कढ़ाई में डालकर गैस की धीमी आंच पर पकाये, जब यह पककर पेस्ट की तरह रह जाए तो इसे गैस से उतार लें. अब इसे रोजाना सिर के गंजे हिस्से पर लगाइये कुछ ही सप्ताह में बाल उगने लगेंगे. बताये गए इस गंजेपन का तेल में Vitamin A, C, K सोडियम, कैल्शियम, पोटासियम आदि वह सभी नुट्रिएंट्स होते है जो नए बाल उगाने के उपाय की तरह काम करते है.

लहसुन और अदरक का रस निकाल ले और रोजाना रात को सोने से पहले एक चम्मच अदरक का रस और एक चम्मच लहसुन का रस लेकर आपस में मिलाकर अपने बालो पर 15 मिनट तक इससे मालिश करे और सुबह दही या अच्छे शैम्पू से धोले. यह आयल बालो को उगाने का तरीका है. मात्र दो से तीन सप्ताह के अंदर यानी 15-20 दिनों में बाल उगने लगते है और धीरे-धीरे गंजेपन से छुटकारा मिलने लगता है

सिर के गंजेपन में स्वमूत्र खुद के पेशाब की मालिश से चमत्कारी लाभ होता है. राजीव का अनुभव : 30 साल के एक रोगी के सिर में गंजापन था. किसी-किसी भाग में मांग जैसे लकीर भी हो गई थी. बहुत गंजापन नये बाल उगाने की दवा लगाई पर लाभ न हुआ तो वेध मोहनजी बाबा ने उन्हें सलाह दी -“की रात को सोते समय अपने मूत्र की दस-पंद्रह मिनट तक मालिश करे सारी रात इसे इस तरह रहने दें. सुबह मुल्तानी मिटटी से नाहये. साबुन शैम्पू या इस तरह के किसी बाजारू चीजों से सिर न धोये”. उसने ऐसा ही किया.

गंजेपन के लिए यह प्रयोग शुरू करने के आठवे दिन रोगी वैधजी को बताने आया तो वैधजी ने देखा की गंज आधी से ज्यादा मिट गई है और उस जगह नए बाल उगने शुरू हो गए है. इस प्रयोग को आगे चलाया गया उसके सारे बाल वापस आ गये. ऐसे ही एक रोगी का सिर पूरा गंजा हो गया था उसने कहे अनुसार एक साल तक बालो पर खुद के पेशाब की मालिश की तो साल भर बाद उसका गंजापन मिट गया

  • स्वमूत्र का यह प्रयोग घिन्न आने जैसा है लेकिन हजारों लोगों के बाल इस उपाय से वापस आये है, डॉक्टर भी पुरे सिर के उड़े हुए बालो को वापस नहीं ला सकते लेकिन यह उपाय ला सकता है. तो सोचिये कितना चमत्कारी होगा यह नुस्खा. इसके लिए आप अपने सुबह पहली के मूत्र को एक शीशी में भर ले व रात को इसका प्रयोग करे, इस उपाय में कई लोग तो 15 दिन पुराने पुराने स्वमूत्र को सिर में लगाते है, क्योंकि जितने पुराने स्वमूत्र को लगाया जाता है वह उतना ही लाभकारी होता है. लेकिन आप ताज़ा भी लगा सकते है. गंजेपन में यह प्रयोग जरूर करे.

अन्य गंजेपन की दवा है यह

  • गंजेपन को ख़त्म करने के लिए अनार के पत्ते पानी में पीसकर सर पर लेप करने से इलाज होता है, नए बाल उगने शुरू हो जाते हैं.
  • उड़द को उबलने व पीसने के बाद रात को सोते समय कुछ दिनों तक रोजाना सिर पर लैप करने से बाल उगने लगते है.
  • अगर सर पर किसी हिस्से के बल उड़ गए, उस जगह गंजापन हो गया हो तो उस जगह पर नीबू काटकर सुबह शाम उस जगह पर रगड़े ऐसा लगातार 1-2 महीने तक करे तो उस हिस्से के बाल उगने लगते है. यह एक आयुर्वेदिक देसी इलाज है.
  • होमियोपैथी दवा फास्फोरस 30 आधा ओंस गोली नं 40 होम्योपैथिक दुकान से लेकर तीन गोली चार बार रोजाना चूसे. इस गंजेपन की दवा के प्रयोग से उड़े हुए बाल वापस आ जाते हैं.
  • गंजेपन में सिर में जहां बाल उड़ गए हो उस हिस्से को खुदरे कपडे से रगड़कर अरहर की दाल पीसकर रोजाना 3 बार लेप करे. दूसरे दिन सरसों का तेल लगाकर धुप में बैठें और चार घंटे के बाद फिर से लेप करे. इस तरह कुछ ही दिन यह प्रयोग लगातार करने से गंजापन ख़तम हो जाता है.
  • बाल्डनेस के इलाज में केले के गूदे को नीबू के रस में पीस लें और लगाए इससे गंजेपन में अचूक लाभ होता है.
  • नमक ज्यादा खाने से बालो के विभिन्न रोग उतपन्न होते है.
  • नीम का तेल गंजे सर पर लगाए 2-3 महीने में वापस बाल आजाते है.
  • गंजेपन के उपाय में धनिया का रस लगाने से भी लाभ होता है.

ऐसे कई लोग है जो दुनिया के सभी तरह के इलाज कर के देख लेते है लेकिन उन्हें कोई आराम नहीं मिलता और फिर वह कोई छोटा सा इलाज या उपाय करके देखते है तो उनके बाल उग आते है. इसलिए आप इन बताये गए नुस्खों को नजरअंदाज न करे. दूसरी बात इस कारण को पकडे की आपके बाल गिरने क्यों शुरू हुए है, किन वजह से वह गंजे हो रहे है फिर कारण को जानकर उस कारण को ख़त्म करने के उपाय करना शुरू करे. इस तरह आपको बहुत लाभ होगा

Leave a Reply