उबकाई आना, उल्टी होने का एहसास मात्र है। कुछ लोगों को मितली ज्यादा आती है। विशेषकर यात्रा के समय कुछ लोगों को उबकाई की समस्या होती है।

इसे मोशन सिक्नेस भी कहते हैं। यह गाडी से यात्रा के दौरान या या नाव से यात्रा के दौरान  विशेष रूप से महसूस किया जाता है।

उबकाई के लक्षण

  • पेट में गड़बड़ी का एहसास होने लगता है
  • पसीना आने लगता है
  • दिल की धड़कन बढ़ जाती है

उबकाई के कारण

यात्रा के दौरान मितली आना बेहद सामान्य बात है लेकिन कई वजहों से यह अगर लगातार आए तो एक समस्या हो सकती है। मितली निम्न कारणों से भी आती है-

HomeRemediesforNauseaandVomiting जानिए उबकाई के कारण के बारे में HomeRemediesforNauseaandVomiting

  • कभी कभी ऍक्सिडेंट या गंदगी बदबू के कारण भी मितली आ सकती है।
  • गर्भावस्था में पहले तिमाही में मितली या उल्टी की समस्या  होती है। यह अपने आप रुक जाती है। मितली और उल्टी की समस्या गर्भधारण के समय शरीर में हार्मोनल बदलाव के कारण होता है। शरीर में विटामिन बी6 की कमी से भी गर्भवती महिला को उल्टी होने की समस्या हो सकती है।
  • ऐंटी बायोटिक  दवाईयों के कारण अक्सर पेट में गड़बड़ी हो जाती है जो मितली या उल्टी का कारण बन जाता है।
  • बदहजमी से, अम्लता , शराब आदि से भी मितली की समस्या हो सकती है।
  • पित्ताशय और पाचक ग्रंथि में सूजन होने पर पेट के ऊपरी भाग में दर्द होता है और मितली और उल्टी होने लगती है।
  • तनाव, भय और बेचैनी के कारण शरीर की क्रिया में असंतुलन पैदा हो जाता है, जो पेट में गड़बड़ी का कारण बन जाता है। जिसके फलस्वरूप मितली, उल्टी, दस्त, कब्ज आदि समस्याएं होने लगती हैं।
  • कुछ लोगों को यात्रा के दौरान मितली, उल्टी का अनुभव होता है। इसके लिये इसकी दवॉंए आधा घंटा पूर्व लेकर ही चले।
  • फूड एलर्जी और फूड असहिष्णुतामाइग्रेन में सिर के भीतर किसी भी प्रकार के दबाव से सेरीब्रो-स्पाइनल फ्लूइड  प्रभावित होता है जिसके कारण मितली या उल्टी की समस्या उत्पन्न होती है।

Leave a Reply