पाचन तंत्र में किसी गड़बड़ी के कारण भोजन न पचने को अपच या अजीर्ण  कहते हैं। यह खुद में कोई रोग नहीं है परन्तु इसके कारण कई गंभीर रोग हो सकते है या यह किसी गंभीर रोग का लक्षण हो सकता है। यदि अपच वाली स्थिति काफी दिनों तक बराबर बनी रहती है तो शरीर में खून का बनना बंद हो जाता है और व्यक्ति धीरे-धीरे कमजोर होता जाता है। इसलिए इस रोग को साधारण नहीं समझना चाहिए।

अपच के लक्षण

  • अपच होने पर भूख नहीं लगती
  • जीभ पर मैल जम जाना, पेट फूलना आदि भी अजीर्ण रोग के प्रमुख लक्षण हैं
  • कभी-कभी रोगी को घबराहट भी हो जाती है
  • रोगी को पसीना अधिक आता है
  • खट्टी-खट्टी डकारें आती हैं
  • मुंह में बार बार पानी भर जाता है तथा पेट में हर समय हल्का-हल्का दर्द होता रहता है
  • छाती में तेज़ जलन होती है
  • नींद भी नहीं आती और कभी-कभी दस्त भी होता है
  • भोजन हजम नहीं होता
  • पेट में गैस बनना
  • सांस में दुर्गंध निकलना
  • जी मिचलाता है
  • पेट में भारीपन महसूस होता है
  • पेट फूल जाता है, जी मिचलाता है और कब्ज की शिकायत हो जाती है

indigestion

अपच की मुख्य वजहें

कई बार समय-असमय भोजन करने से,कभी-भी,कहीं-भी,कुछ-भी खाने-पीने तथा बार-बार खाते रहने से पहले खाया हुआ भोजन ठीक से पच नहीं पाता है और दूसरा भोजन पेट में पहुँच जाता है। ऐसे में पाचन तंत्र भोजन को पूर्ण रूप से नहीं पचा पाता जो अजीर्ण का मुख्य कारण है।अपच पेट के कुछ खास रोगों के कारण भी हो हो सकता है जैसे कि :

पेट का संक्रमण

  • गर्ड
  • पेट के कैंसर
  • पुरानी अग्न्याशयशोथ
  • चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम
  • गैस्ट्रोपॉरेसिस ( यह अक्सर मधुमेह रोगियों में होता है)
  • अल्सर
  • थायराइड रोग

कुछ खास दवाएं भी अपच का कारण बन सकती हैं, जैसे कि

  • थायराइड दवाएं
  • एस्ट्रोजन और मौखिक गर्भ निरोधक
  • एस्पिरिन  और कई अन्य दर्द निवारक गोलियाँ
  • कुछ एंटीबायोटिक दवाएं
  • स्टेरॉयड दवाएं

कुछ जीवनशैली संबंधित आदतें भी अपच के लिए जिम्मेदार होती हैं जैसे:

  • तनाव और थकान
  • उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थ खाने, बहुत ज्यादा भोजन, या तनावपूर्ण स्थितियों के दौरान खाना खाना
  • सिगरेट धूम्रपान
  • बहुत ज्यादा शराब पीना
Loading...

Leave a Reply