कंधे का दर्द एक बहुत ही आम शिकायत है। ऐसा माना जाता है कि कंधों के आसपास जोड़ों में सूजन आने के कारण यह दर्द होता है। ऐसे दर्द में कभी-कभार कंधे सुन्न भी पड़ जाते हैं। यह स्थिति कई बार महीनों तक रह जाती है।

कंधों के दर्द के पीछे का राज

हमारा कंधा तीन हड्डियों से बना है। ऊपरी बांह की हड्डी, कंधे की हड्डी और हंसली। ऊपरी बांह की हड्डी का सबसे ऊपर वाला हिस्सा कंधे के ब्लेड के एक गोल सॉकेट में फिट रहता है। यह सॉकेट ग्लेनोइड  कहलाता है। मांसपेशियों और टेंडन्स का संयोजन  बांह की हड्डी को कंधे के सॉकेट में केंद्रित रखता है। ये ऊतक  रोटेटर कफ कहलाते हैं।

frozen-shoulder.man_ जानिए फ्रोजन शोल्डर के उपचार के बारे में frozen shoulder

ज्यादातर, कंधे की समस्याओं का प्राथमिक कारण रोटेटर कफ में पाये जाने वाले आसपास के कोमल ऊतक का उम्र के कारण प्राकृतिक रूप से बिगड़ना है। कंधों में होने वाली इस जकड़न को फ्रोजन शोल्डर  नाम से जाना जाता है। इस दर्द का कारण आसानी से पता नहीं चलता। फ्रोजन शोल्डर में कंधे की हड्डियों को मूव करना मुश्किल होने लगता है। किन लोगों को हो सकती है यह समस्या-

कंधे का दर्द दिनभर की गतिविधियों को प्रतिकूल रूप से प्रभावित कर सकता है। फ्रोजन शोल्डर की समस्या पुरुषों की तुलना में महिलाओं में दोगुनी पाई गयी है। रोटेटर कफ में तकलीफ की स्थिति 60 वर्ष से अधिक उम्र वालों में ज्यादा देखी जाती है। कंधे के अत्यधिक प्रयोग से उम्र की वजह से होने वाली गिरावट में तेजी आ सकती है।

फ्रोज़न शोल्डर के लक्षण

  • रात में कंधों में तीव्र दर्द होना
  • कंधों को घुमाने में असमर्थता महसूस होना
  • कंधों का सुन्न पड़ जाना

कंधों में जकड़न का कारण

कंधों में होने वाली जकड़न मुख्यत: निम्न कारणों से हो सकती है:

  • गर्दन में होने वाली सर्वाइकल डिस्क की समस्या भी ऐसे दर्द का कारण हो सकती है।
  • वो मरीज, जिन्हें कंधों पर किसी प्रकार की चोट लगी हो या कंधों की किसी प्रकार की सर्जरी हुई है, उनमें फ्रोजन शोल्डर की आशंका अधिक होती है।
  • डायबिटीज के मरीजों में, हृदय समस्या से ग्रसित लोगों में पार्किसन बीमारी के मरीजों में हो सकती है।

frozen-shoulder जानिए फ्रोजन शोल्डर के उपचार के बारे में frozen shoulder

सामान्य उपचार

कंधों की जकड़न में अकसर मालिश या सेंक से आराम मिलता है। अगर इससे आराम नहीं मिलता है तो निम्न उपाय अपनाने चाहिए:

  • फ्रोजन शोल्डर  की चिकित्सा समय पर नहीं की गई तो मरीज को पूरा जीवन इस समस्या के साथ बिताना पड़ सकता है।
  • दर्द से जल्द आराम के लिए एक्यूपंक्चर चिकित्सा का सहारा ले सकते हैं।
  • दर्द को अनदेखा न करें। यह लगातार हो तो डॉक्टर को दिखाएं।
  • सामान्य कंधों के दर्द में दर्द निवारक दवाओं से ही राहत मिल जाती है। ऐसा दर्द कंधों में सूजन के कारण होता है, इसलिए सूजन कम करने वाली दवाएं भी राहत पहुंचा सकती हैं। लेकिन दर्द की दवाओं का प्रयोग केवल आपात स्थिति में ही करें।
  • फ्रोजन शोल्डर की चिकित्सा का सबसे अच्छा उपाय फिजियोथेरेपी माना जाता है। फिजियोथेरेपी में कंधों में खिंचाव उत्पन्न कर कंधों को दोबारा गतिमान बनाना होता है। ऐसा करने के लिए कंधों के विभिन्न बिंदुओं को व्यायाम द्वारा धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में लाने का प्रयास किया जाता है।
  • कंधों को गर्म या ठंडा सेक दें।

Leave a Reply