एक स्वस्थ जीवन जीने के लिए घुटनों का स्वस्थ होना बहुत ज़रूरी है। आपके चलने, दौड़ने, उठने, बैठने और अन्य कई शारीरिक गतिविधियों में घुटनों का प्रयोग होता है। लेकिन इन्हीं घुटनों में जब दर्द होने लगे तो आपकी ज़िंदगी थम जाती है। इसलिए घुटनों के दर्द से बचना बहुत ज़रूरी है। हम आपको ऐसे  टिप्स बता रहे हैं जो आपके घुटनों के दर्द में राहत पहुंचाकर आपको सामान्य जीवन जीने देंगे।

एक्सरसाइज़

घुटनों की मांसपेशियां मज़बूत करने के लिए स्ट्रैंथनिंग एक्सरसाइज़ बहुत फायदेमंद साबित होती है। वॉकिंग या जॉगिंग घुटनों के लिए सबसे अच्छी स्ट्रैंथनिंग एक्सरसाइज़ है। इन दोनों से घुटनों के आसपास की मांसपेशियां एक दिशा में मूवमेंट करती हैं।

वज़न बढ़ने न दें

अगर आपका वज़न अधिक है या आप मोटे हैं तो आपको वर्कआउट और सही खानपान के जरिये अपना वज़न कम कर लेना चाहिए। अपना सिर्फ 5% वज़न घटाने से आपके घुटनों के जोड़ों पर पड़ने वाला दबाव काफी कम हो सकता है।

खानपान

डॉक्टर कहते हैं, ‘ अपने डायट में ऐसे चीजों को शामिल करें जिसमें हाई प्रोटीन हो और कम कार्बोहाइड्रेट या फैट। इससे वज़न सही बना रहेगा और घुटनों पर दबाव कम पड़ेगा।’

eating-healthy-food-skin-620x330

कोल्ड और हीट थैरेपी

घुटनों का तेज़ दर्द इस कोल्ड थैरेपी से दूर किया जा सकता है। प्रभावित स्थान पर बर्फ से सिकाई करने पर न केवल दर्द दूर होता है बल्कि सूजन भी कम हो जाती है। घुटने का दर्द पुराना हो तो हीट थेरेपी ज़्यादा फायदा करती है। लेकिन दोनों थैरेपी के इस्तेमाल से पहले अपने डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें।

फिज़ियोथैरेपी आज़माएं

पुराने घुटनों के दर्द को फिज़ियोथैरेपी एक्ज़रसाइज़ के ज़रिये कम किया जा सकता है। फिज़ियोथेरिप्स आपकी ज़रूरत के हिसाब से आपके लिए एक्सरसाइज़ प्रोग्राम बना सकता है और आपको सही तकनीक भी सिखा सकता है।

पेन किलर

घुटने के दर्द से तुरंत राहत के लिए पेन किलर या स्प्रे का इस्तेमाल किया जा सकता है। ऐसा आमतौर पर किसी चोट की वजह से हो रहे घुटने के दर्द के लिए किया जाना चाहिए।

newpills_3320292b

सही मुद्रा

घुटनों के दर्द को कम करने में सही मुद्रा यानी पॉश्चर को बहुत जरूरी बताते हैं। बहुत देर तक एक ही मुद्रा में बैठने से घुटनों पर दबाव बढ़ता है। कंप्यूटर पर काम करने वाले लोगों को बार-बार ब्रेक लेते रहना चाहिए। जिन्हें लंबे वक्त से घुटनों में दर्द की समस्या है उन्हें आलती पालती मारकर नहीं बैठना चाहिए।

Loading...

Leave a Reply