Saturday, August 18, 2018

Mudra Therapy

हस्त मुद्राए व उनके लाभ

मुद्रा और दूसरे योगासनों के बारे में बताने वाला सबसे पुराना ग्रंथ घेरण्ड संहिता है। हठयोग के इस ग्रंथ को महर्षि घेरण्ड ने लिखा...

अकाल हरिमुद्रा योग की विधि और लाभ

मुदं आनंदं राति लाति इति मुद्रा' इस व्युत्पति के अनुसार, आनंद की प्राप्ति जिससे हो, उसे 'मुद्रा' कहते हैं। यहां प्रस्तुत है सिर दर्द...

कुंजल क्रिया योग की विधि और लाभ

कुंजल क्रिया में पारंगत व्यक्ति के जीवन में कभी भी कोई रोग और शोक नहीं रह जाता। यह क्रिया वास्तव में बहुत ही शक्तिशाली...

नासिकाग्र दृष्टि मुद्रा योग की विधि और लाभ

नासिकाग्र का अर्थ होता है नाक का आख‍िरी छोर, ऊपरी हिस्सा या अग्रभाग। इस भाग पर बारी-बारी से संतुलन बनाने हुए देखना ही नाकिकाग्र...

स्त्रियों के लिए अति उपयोगी रज मुद्रा योग की विधि और...

रज मुद्रा केवल स्त्रियों के लिए है ऐसा नहीं, बल्कि अगर पुरुष इस मुद्रा को करते हैं तो उनके वीर्य संबंधी समस्त रोग दूर...

व्यान मुद्रा योग की विधि और लाभ

हमारे शरीर में पांच तरह की वायु रहती है उसमें से एक का नाम है- व्यान। सारे शरीर में संचार करने वाली व्यान वायु...

स्त्रियों के लिए अति उपयोगी है हस्तपात मुद्रा

सामान्यत: महिलाएं अपनी सुंदरता, स्वास्थ्य और फिगर के प्रति सजग रहती हैं। फिर भी अधिकांश महिलाओं का शरीर मोटापे का शिकार हो जाता है...

पांच प्रमुख योग मुद्राएं जिनसे आप आपने सभी रोग दूर कर...

मुख, नाक, आंख, कान और मस्तिष्क को पूर्णत: स्वस्थ्य तथा ताकतवर बनाने के लिए हठ योग में पांच प्रमुख मुद्राओं का वर्णण मिलता है।...

नभोमुद्रा की विधि और लाभ

नभ का अर्थ होता है 'आकाश'। इस मुद्रा में जीभ को तालु की ओर लगाते हैं, इसीलिए इसे नभोमुद्रा कहते हैं। नभोमुद्रा करना सरल...

स्मरण शक्ति बढ़ाए हंसी मुद्रा से

'हंसी मुद्रा' जैसा की इसके नाम से ही पता चलता है कि यह कैसी मुद्रा होगी। सोचने और त्वरित निर्णय की क्षमता बढ़ाने में...

Latest

error: Content is protected !!