पेट की बीमारी का इलाज और घरेलु नुस्खे  –  हमारी जीवनशैली और खाने पीने के तरीके ऐसे हो गए है की हर दूसरा व्यक्ति पेट के रोग से परेशान है जिसमें सबसे पहले है पेट की गैस और कब्ज। इसके इलावा बार बार पेट खराब होना, एसिडिटी, पेट में इन्फेक्शन, बड़ी व छोटी आंत के रोग और पाचन शक्ति कमजोर होना। अक्सर कुछ लोगों को खाना खाने के बाद पेट में दर्द और भारीपन महसूस होता है। पेट रोग के लक्षण दिखते ही तुरंत इलाज करना चाहिए नहीं तो ये दूसरे रोगों का कारण बन सकते है। पेट के रोग का उपचार करने के लिए सबसे पहले इसके कारण पता करना जरुरी है ताकि सही तरीके से समस्या का समाधान हो सके। आइये जानते हैं पेट की बीमारी का इलाज आज इस लेख में हम पेट के रोगों का आयुर्वेदिक इलाज और देसी दवा के बारे में जानेंगे

पेट की बीमारी के लक्षण

  1. पेट में गैस का दर्द रहना और गैस ना निकलना।
  2. खाना खाने के तुरंत बाद पेट में भारीपन और दर्द होना।
  3. खाना खाते ही टॉयलेट का प्रेशर बनना।
  4. हर समय पेट में जलन दर्द और एक खिचाव सा महसूस होना।
  5. उल्टी, घबराहट, दस्त, बदहजमी और भूख कम होना।
  6. तेजी से वजन गिरना और खाया पिया शरीर को नहीं लगना।

पेट की बीमारी का इलाज और घरेलू नुस्खे 

Pet ki bimari ka ilaj or gharelu nuskhe 

पेट में कब्ज होना

  • कब्ज के इलाज के लिए सोने से पहले हल्के गरम पानी के साथ त्रिफला चूर्ण ले।
  • कब्ज के रोग में मल त्याग करने के लिए ज्यादा जोर लगाना पड़ता है और ऐसे में ठीक से पेट साफ नहीं हो पाता। ज्यादा समय तक कब्ज रहने से बवासीर की समस्या भी हो सकती है।
  • पपीता और दूध से भी इस रोग से छुटकारा मिलता है।

ध्यान दें – कब्ज और एसिडिटी का रामबाण इलाज

उल्टी आना और जी मिचलाना

  • अगर आप को भी घबराहट या उल्टी हो रही है है तो इसके कारण जान कर तुरंत इलाज शुरू करे।
  • ऐसे में हल्का भोजन करे और दही खाने से भी आराम मिलता है।
  • जी घबराना और उल्टी होना कोई बीमारी नहीं पर ये दूसरी बीमारी के लक्षण में से एक है।
  • अक्सर सफर के दौरान कुछ लोगों का जी घबराता है और भी उल्टी होती है।

पेट की बीमारी का बाबा रामदेव का रामबाण उपाय

दस्त होना

  • दस्त का इलाज अगर जल्दी ना किया जाये तो कमजोरी आने लगती है।
  • इसबगोल भूसी, दही और केला खाने से दस्त में जल्दी आराम मिलता है।
  • अचानक से मौसम में बदलाव आना, तेज मिर्च मसाले वाली चीजें खा लेना कुछ ऐसे कारण है जिससे दस्त हो जाते है।
  • ऐसे में जल्दी पचने वाला और हल्का भोजन खाना चाहिए जैसे की दलिया और मुंग दाल की खिचड़ी।

पेट में गैस की समस्या

  • गैस ना निकलने पर ये पेट के अंदर ही घूमती रहती है जिस वजह से पेट में भारीपन और दर्द होने लगता है।
  • पानी ज्यादा पिए, फास्ट फुड से दूर रहे और योग एक्सरसाइज से दिन की शरुआत करे।
  • पेट में गैस बनने से कई लोग परेशान है। फास्ट फूड खाने, लम्बे समय तक भूखे रहने और दवाओं का सेवन ज्यादा करने से पेट में गैस अधिक बनती है।
  • पेट की गैस का उपचार के लिए 2 चम्मच पानी, 1 नींबू का रस और थोड़ा सा काला नमक मिला ले। इस मिश्रण में अब खाने वाला सोडा चुटकी भर मिला ले और तुरंत पी जाए।
  • पवनमुक्तासन गैस के रोग के उपाय का अच्छा तरीका है। हर रोज इस योग को करने पर पेट की गैस निकलने लगती है और कब्ज से भी राहत मिलती है।

पेट में गैस का रामबाण इलाज

पेट में अल्सर की समस्या

  • दर्द दूर करने वाली दवा का अधिक सेवन करने से pet me ulcer की परेशानी अधिक होती है।
  • इस रोग का उपचार में फाइबर वाले फुड अधिक खाना चाहिए।
  • छोटी आंत में होने वाले घाव को पेट में अल्सर कहते है।
  • ज्यादा मिर्च और मसाले वाला खाना खाने से भी ये रोग हो सकता है।
  • योग क्रियाओं और योगासन से भी इस बीमारी से राहत मिलती है।

पेट की बीमारी का रामबाण योग

  • कपालभाति पेट की सभी बीमारी का इलाज करने और उनसे बचने का अच्छा तरीका है। रोजाना 15 मिनट खाली पेट कपालभाति प्राणायाम करे और अनुलोम विलोम भी करे।
  • गैस और कब्ज जैसे रोगों में पवनमुक्तासन करना बहुत उपयोगी है। हर रोज खाली पेट सुबह शाम 5-5 बार ये आसन करे।
  • वज्रासन योग को आप खाना खाने के बाद भी कर सकते है। भोजन के बाद इस योगासन को करने पर खाना जल्दी पच जाता है।
  • खाना खाने के बाद पेट में दर्द होना, कब्ज और गैस के रोग दूर करने में वज्रासन काफी फायदा करता है।
  • अग्निसार क्रिया पेट के रोग दूर करने और पाचन शक्ति बढ़ाने में असरदार है।

तो मित्रों इस प्रकार हम पेट की बीमारी का इलाज घरेलु नुस्खे द्वारा कर सकते हैं

राजीव दीक्षित के घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक उपचार

Leave a Reply