'
Breaking News

खांसी और फेफड़ों में जमे बलगम का जड से सफाया करने का अचूक घरेलु नुस्खा


खाँसी (Cough) एक परेशान, बाधित करने वाली दर्दनाक बीमारी (Disease) है। यह हमारी नींद को बर्बाद कर सकती हैं, भले ही हमारी नौकरी मांग करे हम जोर से बात नहीं कर सकते। ऐसी स्थिति में, हममें से ज्यादातर दवा की दुकान की और भागते हैं और कुछ दवाइयाँ उपयोग करते हैं। हम ऐसा क्यों करते हैं जब हमारे घर पर इस रोग के कुछ समाधान हैं|

क्या आपको गले और छाती में कुछ जमा हुआ सा महसूस हो रहा है? सांस लेने में तकलीफ और लगातार ठींके आ रही हैं? ये सारे लक्षण बलगम (Phlegm) जमा होने के होते हैं। साथी ही, नाक बहना और बुखार आना भी इस समस्या के प्रमुख लक्षण हैं। बलगम हालांकि खतरनाक नहीं होता लेकिन अगर ये लंबे वक्त तक जना रहे तो इससे आपको श्वास संबंधी अन्य समस्याएं हो सकती हैं। बलगम जमने के बहुत सारे कारण हो सकते हैं, जैसे कि सर्दी-जुकाम, फ्लू, वायरल इन्फेक्शन, साइनस, अत्यधिक स्मोकिंग

आज हम आपको एक ऐसा घरेलू उपाए बताएंगे जिससे आपके छाती की बलगम तथा खांसी का नामों निशाना मिट जाएगा | तो chemicals से भरपूर दवाईयों पर पैसे क्यों खराब करने जब आपके पास इस समस्या का आयुर्वेदिक उपाए मौजूद है |

सामग्री

  • ½ किलो गाजर
  • 3-4 चम्मच शहद

विधि

  • पहले गाजरों को टुकड़ों में काट लें |
  • अब गाजरों को पानी में डाल कर उबाल लें तांकि यह मुलायम हो जाएँ | (गाजरों को जिस पानी में उबाला है उस पानी को सम्भाल कर रखें  )
  • अब गाजरों को ब्लेंडर में डाल कर ब्लेंड करें |
  • गाजरो के पानी में शहद मिक्स करें और फिर इस मिश्रण में ब्लेंड की हुई गाजरे डाल कर मिक्स करें |
  • अब इस मिश्रण को ठंडी जगेह तथा (8-10 C degrees/ 46-50 Fahrenheit) तापमान में स्टोर करके रखें |

रोजाना दिन में 3-4 चार चम्मच इस मिश्रण का सेवन करें | 1-2 दिनों में ही आपको फर्क नजर आने लगेंगे | और कुछ ही दिनों में छाती की बलगम और खांसी का सफाया हो जाएगा |

दादी नानी तथा पिता दादाजी के बातों का अनुसरण, संयम बरतते हुए समय के घेरे में रहकर जरा सा सावधानी बरतें तो कभी आपके घर में डॉ. नहीं आएगा। यहाँ पर दिए गए सभी नुस्खे और घरेलु उपचार कारगर और सिद्ध हैं। इसे अपनाकर अपने परिवार को निरोगी और सुखी बनायें। रसोई घर के सब्जियों और फलों से उपचार एवं निखार पा सकते हैं। उसी की यहाँ जानकारी दी गई है। इस साइट में दिए गए कोई भी आलेख व्यावसायिक उद्देश्य से नहीं है। किसी भी दवा, योग और नुस्खे को आजमाने से पहले एक बार नजदीकी आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श अवश्य ले लें।

Related posts

Leave a Reply