सफेद दाग को ल्यूकोडर्मा (Leucoderma) या विटिलिगो (Vitiligo) के नाम से भी जाना जाता है। विटिलिगो एक ऐसा विकार होता है, जिससे शरीर के विभिन्न भागों की त्वचा पर सफेद दाग बनने लगते हैं। यह इसलिए होता है क्योंकि त्वचा में रंग बनाने वाली कोशिकाएं खत्म हो जाती हैं, इन कोशिकाओं को मेलेनोसाइट्स (Melanocytes) कहा जाता है। अगर सफेद दाग शरीर पर बहुत अधिक दिखने लगें तो जल्द से जल्द डॉक्टर को जरूर दिखाएं। विटिलिगो के शुरूआती लक्षणों को ठीक करने के लिए आप कुछ घरेलू उपायों का भी उपयोग कर सकते हैं। इस लेख में हम आपको सफेद दाग हटाने के घरेलू उपाय बता रहे हैं। ये उपाय सफेद दाग मिटाने में आपकी मदद करेंगे।

सफेद दाग के लिए घरेलू नुस्खे

तुलसी, एशियाई देशों में बेहद लोकप्रिय है और अगर आपने अभी तक इस जड़ी बूटी के बारें में नहीं सुना है तो अब जान लीजिये। घरों में तुलसी के पौधे की पूजा की जाती है। इसके अलावा तुलसी आपके स्वास्थ्य के लिए भी बेहद अच्छी होती है और यह सफेद दाग का इलाज करने में मदद करती है। सफेद दाग को हटाने के अलावा ये त्वचा में होने वाली खुजली और सूजन को भी ठीक करती है। रोजाना तुलसी के पत्ते चबाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है और शरीर स्वस्थ होता है।

और अधिक जानकारी के लिए मोबाइल एप्प भी डाउनलोड करें और निशुल्क जानकारी पाएं वो भी ऑफलाइन डाउनलोड के लिए यंहा क्लिक करें

तुलसी का इस्तेमाल कैसे करें:

सामग्री:

चार से पांच तुलसी की पत्तियां।
बनाने व उपयोग करने का तरीका:

सफेद दाग को ठीक करने के लिए कम से कम चार से छः महीने तक तुलसी की पत्तियों को रोजाना जरूर खाएं।
आप एक कप पानी में इन पत्तियों को डालकर भी तुलसी की चाय पी सकते हैं।
सफेद दाग को तेजी से ठीक करने के लिए प्रभावित क्षेत्र पर तुलसी के पाउडर को पानी में मिलाकर बनाए पेस्ट भी को लगा सकते हैं।
तुलसी की पत्तियों का रस निकालें और इसे नींबू के रस के साथ मिलाकर पंद्रह मिनट के लिए प्रभावित जगहो पर लगाएं, इसके बाद गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।

मूली के बीज को कच्चा खाया जाता है और करी, सलाद, सांभर, सूप व अचार में इसका उपयोग किया जाता है। मूली के पत्ते, फूल और बीज स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभदायक होते हैं। मूली के बीज सफेद दाग के इलाज के लिए बेहद उपयोगी होते हैं। मूली के बीज त्वचा की अशुद्धियों को साफ करते हैं और इसमें विटामिन बी, विटामिन सी, जिंक और फास्फोरस होता है जो सफेद दाग से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं।

मूली के बीज का इस्तेमाल कैसे करें:

सामग्री:

35 से 40 ग्राम मूली के बीज।
दो छोटा चम्मच सिरका।

बनाने व उपयोग करने का तरीका:

सबसे पहले मूली के बीज को पानी में रात भर भिगोने के लिए रख दें।
अब सुबह, मूली के बीज को मिक्सर में मिक्स करने के लिए डाल दें।
पेस्ट तैयार होने के बाद मिश्रण को प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।
लगाने के बाद दो घंटे के लिए पेस्ट को ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
अब त्वचा को पानी से धो दें।

त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए हल्दी बहुत ही बेहतरीन सामग्री है। कई वैज्ञानिकों ने भी साबित किया है कि विटिलिगो के लिए हल्दी बेहद प्रभावी है।

हल्दी का इस्तेमाल कैसे करें:

सामग्री:

हल्दी की कुछ गांठ।
एक कप पानी।

बनाने व उपयोग करने का तरीका:

सबसे पहले हल्दी की कुछ गांठ को पानी में 9 या उससे अधिक घंटे तक रहने दें।
अब मिश्रण को उबाल लें।
उबालने के बाद फिर उसे छान लें और निशान पर लगाएं।
आप चाहें तो इस मिश्रण को सरसों के तेल के साथ मिक्स कर लें।
मिक्स करने के बाद इसमें रूई डुबोएं और फिर रूई को प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।
इस मिश्रण को छह महिने से लेकर एक साल तक लगाने से निशान गायब हो जाते हैं

नारियल का तेल त्वचा को मॉइस्चराइज करता है और त्वचा के बैक्टीरिया को मारने में मदद करता है। साथ ही, नारियल के तेल में एमोलिएंट होते हैं जो सफेद दाग का इलाज करते हैं। सफेद दाग के कारण त्वचा के रंग में कमी आने लगती है, ऐसे में नारियल का तेल त्वचा में मेलेनोसाइटस (melanocytes) का उत्पादन करने में मदद करता हैं। परिणामवरूप, आपकी त्वचा और भी बेहतर होने लगती है। इसके अलावा, नारियल के तेल में एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं, जो त्वचा के बैक्टीरिया को साफ करते हैं।

मित्रो बहुत ही हर्ष के साथ आप सभी को सूचित किया जाता है की इस वेबसाइट की एप्प लांच कर दी गयी है आप सभी से निवेदन है की इसे डाउनलोड कर हमे आर्शीवाद दें ताकि हम आप लोगो की सेवा इसी तरह करते रहें इसे डाउनलोड करें और अपनों मित्रों को भी बताएं डाउनलोड करने के लिए यंहा क्लिक करें और अधिक जानकारी पाएं

Leave a Reply