अगर आप सुबह उठ कर ये  कार्य अपनी दिनचर्या में शामिल कर लेंगे तो आपकी मधुमेह की बीमारी जितनी भी पुरानी क्यों ना हो, कुछ ही दिनों में सही हो जाएगी। ये कार्य दोनों प्रकार की शुगर में लाभदायक हैं। इन कार्यो को करेंगे तो निश्चित ही आपकी मधुमेह की बीमारी जड़ से ख़त्म हो सकती हैं। और आपकी जो दवाये अपना प्रभाव नहीं दिखा रही थी वो भी अपना प्रभाव दिखाना शुरू कर देंगी।

सुबह की सैर

सुबह उठ कर पार्क वगैरह पर घूमने जाइए, जितना गति से आसानी से दौड़ लगा सकते हैं दौड़ ज़रूर लगाये। थोड़ी देर कंकर पत्थर वाली जगह पर नंगे पाँव ज़रूर चले। इस से एक्युपंचर होगा, जो मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद हैं।

walking  शुगर रोगी जरूर करें ये कार्य…. walking

आयल पुलिंग

सुबह उठ कर सब से पहले बिना ब्रश किये 10 मि ली तेल(सरसों, नारियल, तिल, मूंगफली) कोई भी मुंह में ले कर 15 मिनट तक इसको चबाते रहे। ध्यान रहे इसको निगलना नहीं। इसके बाद में इसको थूक दीजिये।

गिलोय की दातुन

इसके बाद आप गिलोय की दातुन कीजिये, और इसको चबाने पर जो रस निकले उसको अंदर ही निगल लीजिये। अगर किसी कारण आपको गिलोय की दातुन ना मिले तो आप नीम या बबूल की दातुन कर सकते हैं। गिलोय और नीम का रस मधुमेह में अपने आप में रामबाण औषिधि हैं।

योगा

हर रोज़ 15 मिनट कम से कम योग ज़रूर करे, इसमें भी विशेष 5 मिनट मंडूकासन ज़रूर करे। और कपाल भाति, अनुलोम विलोम जैसे प्राणायाम भी ज़रूर करे। मंडूकासन से पैंक्रियास इन्सुलिन का स्त्राव करना शुरू कर देता हैं जिस से शरीर में फैली ग्लूकोस शरीर के सेल्स ग्रहण कर लेते हैं। और शरीर में शुगर का स्तर कंट्रोल होता हैं।

yoga  शुगर रोगी जरूर करें ये कार्य…. yoga 625x350 81430391247

Loading...

Leave a Reply