benefits-of-star-fruit-for-skin-hair-and-health

हम आज आपको एक ऐसे फल के बारे में बता रहे है जो मधुमेह, कैंसर और हृदय रोगियों के लिए वरदान है यह नही यह हज़ारो रोगों में भी फायदेमंद है उस फल का नाम कमरख है। कमरख एक देशी फल हैं। इसका स्वाद खाने में बहुत ही खट्टा होता हैं। इसीलिए इसे खाना ज्यादा लोग पसंद करते हैं। कमरख के पेड़ बहुत ही बड़े और घने होते हैं। कमरख का पेड़ कभी भी सूखता नहीं हैं। यह सदैव हरा – भरा रहता हैं और इस पर हमेशा कमरख के फल लदे होते हैं।

कमरख फल को जिन नामो से जाना जाता है उनके नाम  निम्नलिखित है : diabetes cancer heart disease Treatment

पर्णमाचाल दंत्सठ शिराल कमरक पितफल   कमरख फल का प्रयोग जैसा की हम सभी जानते हैं कि कमरख का स्वाद बहुत ही खट्टा होता हैं इसीलिए इसका इस्तेमाल अधिकतर चटनी, अचार, मुरब्बा और सलाद के रूप में किया जाता हैं।

कमरख की अद्भुत विशेषताएँ :diabetes cancer heart disease Treatment

डायबिटीज, कैंसर और हृदय :   कमरख हृदय की शक्ति बढाने के लिए भी अत्यंत फायदेमंद होते हैं। इसीलिए यदि किसी व्यक्ति को हृदय से सम्बन्धित कोई रोग हो तो उसे इसका सेवन जरूर करना चाहिए। कैंसर और डायबिटीज रोगियों के लिए भी बहुत फायदेमंद है।

बवासीर का रोग : यदि किसी व्यक्ति को बवासीर का रोग हो गया हो तो उसे कमरख के फल का सेवन जरूर करना चाहिए। क्योंकि इसका सेवन करने से बवासीर के रोग से पीड़ित व्यक्ति को काफी आराम मिलता हैं।

भोजन के प्रति अरुचि : diabetes cancer heart disease Treatment

यदि किसी व्यक्ति को भूख कम लगती हो या उसका भोजन करने का मन न हो तो इसके लिए एक गिलास सुबह के समय कमरख का रस लें और उसमें Do चम्मच चीनी मिलाकर इस रस का सेवन करें। दो – चार दिनों तक इस रस का सेवन करने के बाद भूख बढ़ जाएगी।

रुसी : अगर किसी महिला या पुरुष के बालों में रुसी अधिक हो गई हैं तो इससे छुटकारा पाने के लिए बादाम का तेल लें और उसमें कमरख के रस के मिश्रण को मिला लें। इसके बाद इन दोनों के मिश्रण को अपने सिर में लगा लें और आधे घंटे बाद अपने बालों को धो लें। रुसी ख़त्म हो जायेगी तथा आपके बाल अधिक चमकदार हो जायेंगे।

फटी एडियाँ : यदि किसी व्यक्ति की एडियाँ फट गई हो तो इसके लिए भी आप कमरख का इस्तेमाल कर सकते हैं।

दाद खुजली : यदि शरीर के किसी भाग में खाज – खुजली की समस्या हैं तो कमरख के पेड़ की डंडियाँ लें और कुछ पत्तियां ले लें। इसके बाद इन दोनों को एक साथ पीस लें। इसके बाद इसके मिश्रण को दाद व खुजली वाले स्थान पर लगा लें। आपको दाद – खाज खुजली से छुटकारा मिल जाएगा।

diabetes cancer heart disease Treatment

कमरख का रस पीने से रक्तपित्त के रोग में भी लाभ होता हैं। कमरख के पके पके हुए फल का सेवन करने से शरीर में ताजगी आती हैं और शरीर की शक्ति में वृद्धि होती हैं। कमरख के फल का सेवन कालीमिर्च के पाउडर, मिर्ची पाउडर, जीरा पाउडर और चीनी के साथ किया जा सकता हैं। गर्मी के मौसम के लिए यह फल बहुत ही श्रेष्ठ माना जाता हैं क्योंकि गर्मी के दिनों में गर्म तेज हवाओं के रूप में चलने वाली लू का प्रभाव इसे खाने वाले व्यक्ति पर नहीं पड़ता।

इसका सेवन करने से बुखार जल्दी उतर जाता हैं। कमरख के फल का गर्मियों के दिनों में आम के फल की ही भांति पन्ना बनाया जाता हैं माना जाता हैं कि कमरख के पन्ने की तासीर बहुत ही ठंडी होती हैं। जिससे गर्मी के दिनों में इसे पीने वाल व्यक्ति के शरीर को ठंडक मिलती हैं और उसे अधिक प्यास नहीं लगती।

गर्मी के मौसम में कमरक के अचार और चटनी का भी सेवन किया जाता हैं। ये दोनों भी गर्मी के दिनों के लिए काफी लाभकारी सिद्ध होते हैं। जिन महिलाओं को बच्चे को जन्म देने के पश्चात् दूध स्रावण की समस्या रहती हैं उस महिला को इस समस्या से निजात पाने के लिए कमरख के फल का सेवन जरूर करना चाहिए।

कमरक के फल का रस भी बनाया जा सकता हैं। इसका रस भी बहुत ही गुणकारी होता हैं।   यदि किसी जहरीले जंतु ने किसी व्यक्ति को डंक मार दिया हो तो उस जंतु के विषैले जहर के प्रभाव को रोकने के लिए आप कमरख का प्रयोग कर सकते हैं।  कमरख का प्रयोग पेचिस की बीमारी को ठीक करने के लिए भी किया जा सकता हैं।

Loading...

Leave a Reply