कई दशकों से कैंसर पूरे विश्व को अपने चपेट में लेता जा रहा है। अगर कैंसर के बीमारी का पता प्राथमिक अवस्था में चल जाता है तो इसका इलाज कारगर साबित होता है और रोगी पूरी तरह से स्वस्थ हो पाते हैं मगर अंतिम अवस्था में पता चलने पर इलाज के नए तकनीकों को अपनाने के बावजुद स्वस्थ होने की संभावना कम ही रहती है।

yoga_625x350_81430391247 योगासन कैंसर से लड़ने में करते हैं मदद yoga 625x350 81430391247

योग एक ऐसा साधन है जिसके द्वारा कैंसर के तकलीफ को कम किया जा सकता है और स्वस्थ होने की संभावना को कुछ हद तक बढ़ाया जा सकता है। कैंसर के रोगी दवा लेने के साथ-साथ योग से इस रोग को खतरे को कम करने की कोशिश कर सकते हैं। इन  योगासनों के नियमित अभ्यास से आप कैंसर के कष्ट और संभावना को कुछ हद तक तो कम कर ही सकते हैं। और अगर आप पूरे आत्मविश्वास से योगासन करेंगे तो ठीक होने की संभावना बढ़ जाती है।ये सात योगासन कैंसर से लड़ने में करते हैं मदद-

कपालभाती प्राणायाम

यह नैचरल रेडिएशन का काम करता है।

kapalbhati-633x319 योगासन कैंसर से लड़ने में करते हैं मदद kapalbhati 633x319

भ्रस्तिका प्राणायाम

इस प्राणायाम से आप योग अभ्यास की शुरूआत कर सकते हैं। एक बात का ध्यान यह रखें कि कोई भी आसन करते वक्त जल्दबाजी न करें और धीरे-धीरे इसके समय को बढ़ाये।

शीतली प्राणायाम

रेडिएशन के बाद शरीर के भीतरी ज्वलन को कम करने में मदद करता है।

अनुलोम-विलोम प्राणायाम

यह शरीर के प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के साथ-साथ भीतरी शक्ति को भी उन्नत करता है।

anulom-vilom योगासन कैंसर से लड़ने में करते हैं मदद anulom vilom

सीत्करी प्राणायाम

इस प्राणायाम से शरीर की गर्मी कम होती है।

उज्जायी प्राणायाम

गले के कैंसर से राहत दिलाने में मदद करता है।

सुखासन प्राणायाम

इस प्राणायाम को आप आराम से कर सकते हैं या कुर्सी पर बैठकर भी कर सकते हैं।

Yoga teacher sitting in sukhasana at front of class, eyes closed योगासन कैंसर से लड़ने में करते हैं मदद 200254980 001
image source : Getty images

ये सारे योगासन शरीर के प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर कैंसर से लड़कर निरोग होने में सहायता करते हैं मगर इनको करने के पहले डॉक्टर से सलाह ज़रूर ले लें।

Leave a Reply